कुल पृष्ठ दर्शन : 192

You are currently viewing ‘नई कलम’ ने ‘मातृ दिवस’ पर कराई काव्य गोष्ठी

‘नई कलम’ ने ‘मातृ दिवस’ पर कराई काव्य गोष्ठी

इंदौर (म.प्र.)।

हमारी संस्कृति में माँ का स्थान सर्वश्रेष्ठ है। माँ जीवन में संबंधों का शिखर है। पाश्चात्य संस्कृति में मातृ दिवस एक दिन मनाया जाता है, किन्तु हमारे भारत में प्रतिदिन मातृ दिवस है। हमारी संस्कृति के ऐसे ही आदर्शों को संस्था नई कलम द्वारा मातृ दिवस पर कराई गई काव्य गोष्ठी में कविता व गीतों के माध्यम से प्रस्तुत किया गया।
साहित्यिक एवं सामाजिक संस्था नई क़लम की मासिक गोष्ठी में नगर के अनेक कवियों ने काव्य पाठ किया। वरिष्ठ कवि हेमंत व्यास के निवास पर इस गोष्ठी का संचालन कवि डॉ. विमल कुमार ने किया। अध्यक्षता हेमंत व्यास ने की। मुख्य अतिथि कवि भीमसिंह पंवार और विशेष अतिथि कवि के. पी. चौहान रहे। कवि विनोद ‘विनम्र’, आतिश इंदौरी, संतोष त्रिपाठी सुजान, श्रुति मुखिया, प्रशांत तिवारी और जितेन्द्र राज ने इसमें काव्यपाठ किया। आभार अतुल व्यास ने व्यक्त किया।

Leave a Reply