Visitors Views 56

महान भारत

उमेशचन्द यादव
बलिया (उत्तरप्रदेश) 
***************************************************
कुदरत का उपहार स्वरूपा
जन्मे थे जहाँ मनू-सतरूपा।
बुद्ध जी दिल से दया है बहाई
हमें गर्व है उन महापुरुषों पर,
हम जिनकी अच्छी संतान हैं।
कान्हा ने मधुर बंशी है बजाई,
बंशी की मीठी और मधुर तान है।
इसीलिए तो,अपना भारत महान है॥

नदियाँ बहकर हरियाली भर दें
शीत पवन तन शीतल कर दे।
मौसम तीन बजाएं बीन
परोपकार में रहते लीन।
हम अपने व्यवहार से
दुश्मन को हराते प्यार से।
हम तिरंगे पर लुटाते जान हैं,
इसीलिए तो,अपना भारत महान है॥

कहें ‘उमेश’ हर मुश्किल से,
लड़ते हैं हम आसानी से।
चाहे हो प्रतिकूल परिस्थिति,
हम जीतते हर परेशानी से।
रीढ़ की हड्डी इस भारत की,
जवान और हर किसान है।
हर दिल की धड़कन में यही है,
इसीलिए तो,अपना भारत महान है॥

परिचय-उमेशचन्द यादव की जन्मतिथि २ अगस्त १९८५ और जन्म स्थान चकरा कोल्हुवाँ(वीरपुरा)जिला बलिया है। उत्तर प्रदेश राज्य के निवासी श्री यादव की शैक्षिक योग्यता एम.ए. एवं बी.एड. है। आपका कार्यक्षेत्र-शिक्षण है। आप कविता,लेख एवं कहानी लेखन करते हैं। लेखन का उद्देश्य-सामाजिक जागरूकता फैलाना,हिंदी भाषा का विकास और प्रचार-प्रसार करना है।