Total Views :134

You are currently viewing मेरी चौखट पर आना तुम

मेरी चौखट पर आना तुम

ताराचन्द वर्मा ‘डाबला’
अलवर(राजस्थान)
***************************************

जीवन के सफर में,
मेरा साथ निभाना तुम
छोड़ न जाना बीच राह में,
ये वादा निभाना तुम।

तुमसे पहले मौत आए,
ये आरज़ू है मेरी
मेरे मरने के ग़म में,
आँसू न बहाना तुम।

हमेशा खुश रहना,
दिल से दुआ है मेरी
मेरी मुहब्बत को,
कभी न भुलाना तुम।

ग़म मिले तो मुझे मिले,
तुम्हें सिर्फ खुशी मिले
मेरी यादों के सहारे,
दिल बहलाना तुम।

हृदय में तस्वीर जड़ी है,
कभी भुला न पाऊंगा।
बस आरज़ू है एक बार,
मेरी चौखट पर आना तुम॥

परिचय- ताराचंद वर्मा का निवास अलवर (राजस्थान) में है। साहित्यिक क्षेत्र में ‘डाबला’ उपनाम से प्रसिद्ध श्री वर्मा पेशे से शिक्षक हैं। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में कहानी,कविताएं एवं आलेख प्रकाशित हो चुके हैं। आप सतत लेखन में सक्रिय हैं।

Leave a Reply