कुल पृष्ठ दर्शन : 297

You are currently viewing ‘मैसूर महोत्सव’ में अनेक रचनाकार सम्मानित

‘मैसूर महोत्सव’ में अनेक रचनाकार सम्मानित

मैसूर (कर्नाटक)।

अखिल भारतीय सर्वभाषा संस्कृति समन्वय समिति ने कर्नाटक के ऐतिहासिक नगर मैसूर के रॉयल इन सभागार में राष्ट्रीय अधिवेशन ‘मैसूर महोत्सव’ आयोजित किया। इसमें सुविख्यात साहित्यकार श्रीमती सविता चड्ढा को ‘विश्व प्रज्ञम सम्मान’ तथा राही राज को ‘साहित्य श्री सम्मान’ से सम्मानित किया गया।
इस ३ दिवसीय अधिवेशन का उद्घाटन कन्नड़ भाषा के सुप्रसिद्ध साहित्यकार और पटकथा लेखक पद्मभूषण संतेशिवरा लिंगन्नैया भैरप्पा ने किया। महोत्सव की अध्यक्षता विश्व विख्यात चिंतक एवं कवि प्रज्ञान पुरुष पंडित सुरेश नीरव ने की। इस अवसर पर संस्था की पत्रिका के अतिरिक्त अन्य रचनाकारों की पुस्तकों का भी लोकार्पण किया गया। इसमें उमंग सरीन का कहानी संग्रह ‘परछाईयों के पार’, श्रीलाल जोशी श्री का काव्य संग्रह ‘कविता भरी जिंदगी’ और डॉ. सविता चड्डा की पुस्तक ‘सृजन के विविध आयाम’ आदि उल्लेखनीय हैं। इस अवसर पर डॉ. मधु मुकुल चतुर्वेदी के व्यक्तित्व पर आधारित पुस्तक ‘डॉ. मधु मुकुल चतुर्वेदी एक बहुआयामी व्यक्तित्व’ का विमोचन भी किया गया। सभागार में आयोजित इस अधिवेशन में दिल्ली से लब्ध प्रतिष्ठ साहित्यकार डॉ.सविता चड्ढा, लोक कवयित्री उमंग सरीन, बैंगलुरू से लब्धप्रतिष्ठ गीतकार ज्ञानचंद मर्मज्ञ, दर्शन बेजार, हिंदी सेवी श्रीमती शरद ज्ञानचंद, कवयित्री डॉ. कविता सिंह प्रभा को सम्मानित किया गया।
अधिवेशन के पहले सत्र में आलेख वाचन, पुस्तक प्रदर्शनी, चुनिंदा पुस्तकों का लोकार्पण और संस्था के प्रतिष्ठित अलंकरण से रचनाकारों को सम्मानित किया गया। दूसरे सत्र में अभा कवि सम्मेलन किया गया। तीसरे दिन शैक्षिक पर्यटन के साथ यह संपन्न किया गया।

Leave a Reply