Visitors Views 10

सच छुपाऊँ कैसे

ललित प्रताप सिंह
बसंतपुर (उत्तरप्रदेश)

************************************************

अपने विचार मैं सबको बताऊं कैसे,
मन में क्या है सबको सुनाऊं कैसे।

हरदम किया है प्रयास हँसाने का,
अब हँसते हुए को रूलाऊं कैसे।

बात-बात पर भड़कते हैं लोग,
अब उन्हें भड़कने से बचाऊं कैसे।

कुछ ही हो पायी है बातें अपनी
अब इन बातों को मैं भुलाऊं कैसे।

ले लेता हूँ मैं इल्जाम अपने सर,
तुम पर सब इल्जाम लगाऊं कैसे।

‘ललित’ कब तक चलेगा ऐसे ही,
अब जमाने से सच छुपाऊं कैसे॥

परिचय : ललित सिंह का निवास जिला रायबरेली स्थित ग्राम बसंतपुर (उत्तरप्रदेश)में है ।वर्तमान में बीएससी की पढ़ाई के साथ ही लेखन भी जारी है । लेखन में आपको श्रृंगार विधा में लिखना अधिक पसंद है । कई स्थानीय पत्रिकाओं में आपकी रचना प्रकाशित हुई है । ललित प्रताप सिंह का साहित्यिक उपनाम-ललित है। जन्मतिथि ४ जुलाई १९९९ और जन्मस्थान-होशियारपुर(पंजाब) है।कार्यक्षेत्र में आप विद्यार्थी हैं,तो लेखन विधा-कविता और ग़ज़ल जो श्रृंगार रस में लिखना हैl प्रकाशन में श्री सिंह का साझा काव्य संग्रह शीघ्र ही आने वाला हैl आप ब्लॉग पर भी अपनी बात रखते हैंl आपकी नजर में लेखनी का उद्देश्य-हिन्दी का प्रचार करना हैl