कुल पृष्ठ दर्शन : 156

You are currently viewing साथ स्मरणीय बन गया

साथ स्मरणीय बन गया

फिजी यात्रा:विश्व हिंदी सम्मेलन

भाग-१

इंदौर से दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचते ही आ. कुमुद शर्मा दीदी और युवा कवि प्रिय अमित शर्मा की टोली मिल गई। फिर तो मिले २७५ में से शायद १५० से अधिक विद्वतजन पारिवारिक परिचित थे। भावी आनंद की एक झलक इन सबको देखकर आभासित होने लगी। विमान में सांची विवि की कुलपति आ. नीरजा गुप्ता दीदी और केरल के अनुज अनीश भाई का साथ स्मरणीय बन गया।

Leave a Reply