कुल पृष्ठ दर्शन : 286

You are currently viewing कलम तीर है,बलवीर है

कलम तीर है,बलवीर है

एस.के.कपूर ‘श्री हंस’
बरेली(उत्तरप्रदेश)
*********************************

कलम तीर,
कलम की ताकत-
ये शमशीर।

कलम शक्ति,
कलम की पहुंच-
करे भी भक्ति।

कलम लिखे,
शब्दों की सरगम-
जो शक्ति दिखे।

कलम जादू,
कर सके कमाल-
वक़्त बदलू।

कलम बोले,
ये सारा सच खोले-
आदमी डोले।

कलम नोंक,
हिला दे सत्ता को भी-
दम तो रोक।

कलम यंत्र,
दिखाए आइने सा-
कलम मंत्र।

कलम चित्र,
सजीव चित्रण हो-
लीला विचित्र।

खोल दे राज़,
यह कलम साज़-
आए न बाज़।

कलम कथा,
पढ़ कर भावुक-
सबकी व्यथा।

कलम छोटा,
काम करे ये मोटा-
बहुत खोटा।

शब्द प्रवाह,
कलम से संभव-
सत्य की राह।

लिखे ये अर्थ,
दुधारी तलवार-
कभी अनर्थ।

कलम शक्ति,
मामूली नहीं यह-
भाव रखती।

कलम द्वेष,
दुरुपयोग न हो-
फैले विद्वेष।

Leave a Reply