कुल पृष्ठ दर्शन : 526

You are currently viewing ग़ज़ल संग्रह ‘कहाँ चले आए…’ लोकार्पित

ग़ज़ल संग्रह ‘कहाँ चले आए…’ लोकार्पित

आगरा (उप्र)।

आगरा राइटर्स एसोसिएशन की ओर से भरत दीप माथुर के ग़ज़ल संग्रह ‘कहाँ चले आए…’ का लोकार्पण पश्चिमपुरी के होटल में किया गया। समीक्षा करते हुए साहित्यकार डॉ. त्रिमोहन तरल ने कहा कि, यह ग़ज़लगोई की दुनिया में हिंदी और उर्दू ग़ज़ल के नाम पर की जा रही दुर्भाग्यपूर्ण धड़ेबाजी से दूर है। कार्यक्रम में सुधीर बेकस, सैयद बाबर इमाम, वरिष्ठ साहित्यकार कुंवर कुसमेश, संस्थापक डॉ. अनिल उपाध्याय और कुसुम माथुर आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply