Visitors Views 11

बेरोजगार

आरती जैन
डूंगरपुर (राजस्थान)
*********************************************
बेरोजगार की अपनी
अलग कहानी है,
हाथ में डिग्री और
आँख में पानी है।
पदक से अब मैं
सब्जी को तौलूंगी,
प्रमाण-पत्र के संग
रद्दी की दुकान खोलूंगी।
हर दिन मेरा एक
आँसू बहता है,
जब नब्बे प्रतिशत के संग
भी बटुआ खाली रहता है।
हुनर भी नहीं रहा
अब मेरा रक्षक,
आरक्षण बन गया
है अब मेरा भक्षक।
चुनाव में आती है
भर्ती की महक,
मंत्री बनते ही भर्ती
में लगती है दहक।
बेरोजगार की अपनी
अलग ही कहानी है,
हाथ में डिग्री और
आँख में पानी है॥

परिचय : श्रीमती आरती जैन की जन्म तारीख २४ नवम्बर १९९० तथा जन्म स्थली उदयपुर (राजस्थान) हैl आपका निवास स्थान डूंगरपुर (राजस्थान) में हैl आरती जैन ने एम.ए. सहित बी.एड. की शिक्षा भी ली हैl आपकी दृष्टि में लेखन का उद्देश्य सामाजिक बुराई को दूर करना हैl आपको लेखन के लिए हाल ही में सम्मान प्राप्त हुआ हैl अंग्रेजी में लेखन करने वाली आरती जैन की रचनाएं कई दैनिक पत्र-पत्रिकाओं में लगातार छप रही हैंl आप ब्लॉग पर भी लिखती हैंl