कुल पृष्ठ दर्शन : 441

सच का वृक्ष

मानकदास मानिकपुरी ‘ मानक छत्तीसगढ़िया’ 
महासमुंद(छत्तीसगढ़) 
***********************************************************************
सच का वृक्ष,
सूखने लगा आज-
संभल जाओl

अपनों बीच,
कितने धोखेबाज-
ध्यान लगाओl

जरूरत है,
झूठ का पूर्णनाश-
आगे तो आओl

सच का बीज,
रख अपने हाथ-
उगाते जाओl

Leave a Reply