Visitors Views 54

हमारा भारत

दीपक शर्मा

जौनपुर(उत्तर प्रदेश)

*************************************************

शीश मुकुट हिमालय जिनकी छाती पर पावन गंगा है,
महिमा उस देश की गाता हूँ,जिस देश की शान तिरंगा है।
जहाँ ताजमहल और लाल किले-सी अदभुत भव्य इमारत है,
सागर जिनके पाँव पखारे,वही हमारा भारत हैll

जहाँ सरिता,झरना,झीलें और सुंदर बाग-बगीचे हैं,
रामेश्वर-काशी-काबा सब एक गगन के नीचे हैं।
जहाँ राष्ट्रगान का संगीत सुनकर मयूर नाचा करते हैं,
वन्दे मातरम् गाती है कोकिल,कलियों पर भँवरे हँसते हैंll

जहाँ पत्थर पीपल देव हमारे गंगा गायें माता है,
रवि,रजनीचर को भी श्रद्धा से नमन किया जाता है।
जहाँ मात-पिता और गुरुओं के पूजन होते हैं,
ऐसे दिव्य वातावरण में पंछी चैन से सोते हैंll

जहाँ जाति-धरम् में भेद नहीं है,सब मानव एक समान है,
सबसे सुंदर देश हमारा प्यारा हिन्दुस्तान हैll

परिचय-दीपक शर्मा का स्थाई निवास जौनपुर के ग्राम-रामपुर(पो.-जयगोपालगंज केराकत) उत्तर प्रदेश में है। आप वर्तमान में काशी हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रावास में निवासरत हैं। आपकी जन्मतिथि २७ अप्रैल १९९१ है। बी.ए.(ऑनर्स-हिंदी साहित्य) और बी.टी.सी.( प्रतापगढ़-उ.प्र.) तक शिक्षित श्री शर्मा एम.ए. में अध्ययनरत(हिंदी)हैं। आपकी लेखन विधा कविता सहित लघुकथा,आलेख तथा समीक्षा भी है। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में इनकी कविताएँ व लघुकथा प्रकाशित हैं। विश्वविद्यालय की हिंदी पत्रिका से बतौर सम्पादक भी जुड़े हैं।दीपक शर्मा की लेखनी का उद्देश्य- देश और समाज को नई दिशा देना तथा हिंदी क़ो प्रचारित करते हुए युवा रचनाकारों को साहित्य से जोड़ना है। विभिन्न साहित्यिक संस्थाओं द्वारा आपको लेखन के लिए सम्मानित किया जा चुका है।