कुल पृष्ठ दर्शन : 246

You are currently viewing एक चाहत,एक हिम्मत और एक औरत

एक चाहत,एक हिम्मत और एक औरत

डॉ.हेमलता तिवारी
भोपाल(मध्य प्रदेश)
***********************************

महिला दिवस स्पर्धा विशेष……

हर बार की तरह आ गया फ़िर ८ मार्च,
प्रोफाइल,बॉयोडेटा तैयार होने लगे
मुझे भी आमंत्रण के संदेशे आने लगे,
अलमीरा पर नज़र खुद-ब-खुद चली गई
एक के ऊपर एक चढ़े पुरस्कारों के ढेर,
पता नहीं मुस्करा रहे थे,या मुँह चिढ़ा रहे थे।

ट्रेन में एसी द्वितीय श्रेणी में बर्थ
भी मिल गई,
पति की अनुमति भी मिल ही गई
पति की अनुमति हाहाहा…
वो भी ‘महिला दिवस’ पर सम्मान
लेने के लिए,
मन भी कैसा कैसा होने लगा!
जैसे पिंजरे से रस्सी को थोड़ी-सी
ढील दे दी गई हो,
लिखने की टेबल पर सबका सामान
पटकना
किताबों के ऊपर गीला तौलिया रख देना,
उसी के ऊपर बैठ जाना
एक खुद का कमरा होने की चाह,
मन में मसोस कर रह जाना…।

स्त्री के स्वास्थ्य से लेकर स्वतंत्रता तक,
भाषणों को तैयार करने से लेकर
पढ़ाते तक
कभी रोटियां बेलते,कभी आधा पौना खाते,
पता ही नहीं चला के…
मैं महिला हूँ,या सिर्फ एक शरीर
मैं स्वतंत्र भी हूँ के अपनी ही,
सर्जनाओं के बीच विशुद्ध कैदी!

कभी आसमान ताकती,
तो कभी पंछियों को निहारती
बस एक ही बात दिल से निकलती,
अभी ही मुक्ति क्यूं नहीं
साथ रहते मुक्ति क्यूं नहीं!
ना पिछला-ना अगला जनम,
होता भी है या नहीं
फ़िर यूँ उमड़ते-उमगते-फैलते
वजूद को अनदेखी रस्सियों से,
बांधते रिश्तों का क्या करुँ!

उनकी व्यस्तता थी,
मुझे स्टेशन तक छोड़ना मुमकिन नहीं था
बेटा रिक्शा ले आया,
आवाज सुनकर पति बोले-दो दिन में
आ जाना…
बेटे ने कहा-मम्मी आप तो ज्यादा दिन रुक जाना,
बेटे को गले लगाते लगाते रह गई
सोचती रह गई,
बच्चा मुझे समझ रहा है…
या आये दिन के झगड़ों से मुझे,
थोड़ी राहत दे रहा है।

विचारों के झन्झावातों में,
स्टेशन भी आ गया
और लो मैं अकेली होते ही,
जैसे पूरी हो गई
एक पूरी रूह,एक अधूरी इच्छा,
एक चाहत,एक हिम्मत और
एक औरत।
जिसका होना ही मुझे खुद पर,
गरूर करने के लिए काफी है॥

परिचय-डॉ.हेमलता तिवारी का जन्म १४ नवम्बर १९६५ को सागर में हुआ हैL वर्तमान में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में निवास है,जबकि स्थायी पता भोपाल(मध्य प्रदेश) हैL बी.एस-सी,(जीवविज्ञान)बी.ए.(संगीत), एम.ए (संगीत, इतिहास, दर्शन,लोक प्रशासन,एजूकेशनल सायकोलॉजी, क्लीनिकल साय.,आर्गेनाइजेशनल साय.)एल.एल.बी.,पी.जी.डी.(लेबर लॉ एंड इण्डस्ट्रियल रिलेशन)सहित पी.एच-डी.(इन क्लीनिकल साय.), एम.बी.ए.(वित्त और मानव संसाधन) की शिक्षा प्राप्त डॉ.तिवारी का कार्य क्षेत्र-नौकरी हैL सामाजिक गतिविधि के तहत आप व्यक्तित्व विकास प्रशिक्षक,परामर्शी सहित ज्योतिष लेखन में सक्रिय हैंL इनकी लेखन विधा-कविता,कहानी एवं आलेख हैL हिन्दी सहित अंग्रेजी का भाषा ज्ञान रखती हैं।

Leave a Reply