Visitors Views 97

निदा खान और डॉ. अर्चना मिश्रा शुक्ला बनीं प्रथम विजेता

प्रतियोगिता में गोपाल चन्द मुखर्जी एवं डॉ. पूजा हेमकुमार अलापुरिया ने पाया द्वितीय स्थान

इंदौर।

लेखकों के प्रोत्साहन और हिंदीभाषा के सम्मान की दिशा में हिन्दीभाषा डॉट कॉम परिवार द्वारा इस बार ‘मकर संक्रांति’ विषय पर मासिक स्पर्धा कराई गई। इस स्पर्धा में पद्य वर्ग में निदा खान(महाराष्ट्र) को प्रथम व गोपाल चन्द मुखर्जी(छग)को द्वितीय विजेता घोषित किया गया है। ऐसे ही गद्य वर्ग में डॉ. अर्चना मिश्रा शुक्ला (उप्र) ने प्रथम तथा डॉ. पूजा हेमकुमार अलापुरिया(महाराष्ट्र) ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया है।
मंच-परिवार की सह-सम्पादक श्रीमती अर्चना जैन और संस्थापक-सम्पादक अजय जैन ‘विकल्प’ ने २३ वीं स्पर्धा के परिणाम जारी करते हुए यह जानकारी दी। आपने बताया कि,इस स्पर्धा में भी अनेक प्रविष्टियाँ प्राप्त हुई,किन्तु श्रेष्ठता अनुरुप चुनिंदा रचनाओं को लिया गया। रचना शिल्पियों की कथ्य उत्कृष्टता अनुसार निर्णायक ने विभिन्न बिन्दुओं पर चयन करके पद्य विधा में मुम्बई की रचनाशिल्पी निदा खान(खुशियां फैलाएं)को प्रथम स्थान दिया है। इसी वर्ग में छत्तीसगढ़ से ‘नई उमंग संक्रांति’ हेतु गोपाल चन्द मुखर्जी(बिलासपुर)को द्वितीय एवं ‘मकर संक्रांति अनुपम त्योहार’ रचना के लिए डॉ. आशा गुप्ता ‘श्रेया'(झारखंड)को तृतीय स्थान पर सम्मानित किया गया है।
आपने बताया कि,उक्त मासिक स्पर्धा में इस बार गद्य वर्ग में ‘आज मिठाई में वह स्वाद नहीं…’ के लिए डॉ. अर्चना मिश्रा शुक्ला (कानपुर)को प्रथम, मकर संक्रांति फिर कब आएगी माँ ?हेतु डॉ. पूजा हेमकुमार अलापुरिया(मुम्बई) को दूसरे तथा बिहार के रचनाशिल्पी योगेन्द्र प्रसाद मिश्र को ‘सूर्य नारायण की महत्ता और पुण्य का पर्व ‘संक्रांति’ हेतु तृतीय स्थान पर चयनित किया गया है।
पोर्टल की संयोजक सम्पादक प्रो.डॉ. सोनाली सिंह एवं प्रचार प्रमुख सुश्री नमिता दुबे ने विजेताओं व सहभागियों को हार्दिक शुभकामनाएं-बधाई दी है।