कुल पृष्ठ दर्शन : 157

समिति ने किया बाल साहित्यकार राजा चौरसिया का अभिनंदन

इन्दौर(मप्र)।

देश की प्राचीनतम हिंदी भाषा, साहित्य की संस्था श्री मध्य भारत हिंदी साहित्य समिति में आकर मैं अभिभूत हूँ। इस भूमि को सादर प्रणाम करता हूँ,जहां महात्मा गांधी जी आए।

प्रसिद्ध बाल साहित्यकार उमरिया पान (नीला कली) मध्य प्रदेश के बाल साहित्यकार राजा चौरसिया ने समिति द्वारा स्वागत किए जाने पर यह विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर उन्होंने अपनी कुछ रचनाएं सुनाई,जो ग्रामीणभाषा और संस्कृति से संबंधित रही। साहित्य मंत्री हरेराम वाजपेई ने कहा कि राजा चौरसिया की अपनी क्षेत्रीय भाषा में काव्य पाठ से जैसे २ दिन पूर्व ही समिति में मातृभाषा दिवस का आगमन हो गया है।
स्वागत प्रचार मंत्री अरविंद ओझा एवं सदाशिव कौतुक किया। अवसर पर ‘देवपुत्र’ पत्रिका परिवार से डॉ. विकास दवे,गोपाल महेश्वरी एवं शशिकांत फड़के के अलावा समिति कमलेश पांडे,नारायण जोशी,राजेश आदि उपस्थित थे। आभार आशु कवि प्रदीप ‘नवीन’ ने व्यक्त किया।

Leave a Reply