Visitors Views 42

करके मेहनत नाम बना जाऊँगा

शिवम द्विवेदी ‘शिवाय’ 
इंदौर (मध्यप्रदेश)
********************************************************************

घर से निकल के मैं शहर आया जी,
जमाने के लिए कुछ कर जाऊँगा।
देख-देख सीख-सीख भर जाऊँगा,
कुछ करके ही वापस मैं घर जाऊँगा।

बाप जी ने मुझे सब-कुछ दे दिया,
मैं भी खुद पर मान करा जाऊंगाl
घर का है नाम बड़ा मेरे,
मैं खुद का भी नाम बढ़ा जाऊँगा।

मेहनत मैं जी तोड़ करूँगा,
थोथे जैसे लोगों से मैं नहीं डरूंगाl
जो मालिक की मेहर हो गई,
करके मेहनत नाम बना जाऊँगा।

गाँव से चल के मैं शहर आया जी,
सपना है दुनिया पे राज करूँगाl
आज-कल न सही कुछ दिन बाद करूँगा,
ये तो सच है एक दिन राज करूँगा।

पैसे कमाने का है शौक नहीं जी,
मरने से पहले नाम कमा जाऊँगा।
तेरे शहर में होगी धाक हमारी,
नाम खुद का मैं ऐसा बना जाऊँगा।

हाथ की लकीरों से चलता नहीं जी,
मैं हौंसलों पे उड़ के दिखा जाऊंगा।
घर से निकल के मैं शहर आया जी,
सपने मैं पूरे अपने कर जाऊँगा।

घर से निकल के मैं शहर आया जी,
जमाने के लिए कुछ कर जाऊँगा।
घर से निकल के मैं शहर आया जी,
जमाने के लिए कुछ कर जाऊँगाll