Visitors Views 8

भ्रूण हत्या बड़ा अपराध

विजय कुमार
मणिकपुर(बिहार)

******************************************************************

भ्रूण हत्या है बड़ा अपराध
इसे रोकें हम और आप,
लड़का-लड़की में अंतर नहीं
फिर क्यों होते है इतने अपराध।

काजल नहीं सुंदरता का
लो कालिख तुम पोत,
ऐसा रूप सहेज लो
जो हो सुंदरता का प्रतीक।

माता तो माता होती है
क्यों अपराधी के रूप,
ऐसी गलती ना करो
जो ले जाये भ्रूण हत्या के समीप।

उसी कोख से सब आये हैं
चाहे अमीर हो या गरीब,
जाना भी वही है सबको
चाहे राजा हो या फकीर।

रुप तो आता-जाता है
गुण है हमारे पास,
भ्रूण हत्या को ना बढ़ाओ
इसे रोकें हम और आपll

परिचय-विजय कुमार का बसेरा बिहार के ग्राम-मणिकपुर जिला-दरभंगा में है।जन्म तारीख २ फरवरी १९८९ एवं जन्म स्थान- मणिकपुर है। स्नातकोत्तर (इतिहास)तक शिक्षित हैं। इनका कार्यक्षेत्र अध्यापन (शिक्षक)है। सामाजिक गतिविधि में समाजसेवा से जुड़े हैं। लेखन विधा-कविता एवं कहानी है। हिंदी,अंग्रेजी और मैथिली भाषा जानने वाले विजय कुमार की लेखनी का उद्देश्य-सामाजिक समस्याओं को उजागर करना एवं जागरूकता लाना है। इनके पसंदीदा लेखक-रामधारीसिंह ‘दिनकर’ हैं। प्रेरणा पुंज-खुद की मजबूरी है। रूचि-पठन एवं पाठन में है।