अलविदा

डॉ.मधु आंधीवालअलीगढ़(उत्तर प्रदेश)**************************************** सूनी-सूनी आँखें,जर्जर काया,एक छोटा-सा आश्रम जहां उनको जिन्दगी की आखिरी साँस लेनी है। ये उनकी भाग्य रेखा है। कादम्बिनी को अभी १० दिन पहले ही इस आश्रम…

0 Comments

दादी की परी

डॉ.मधु आंधीवालअलीगढ़(उत्तर प्रदेश)**************************************** आज दिल बहुत उदास था। तोषी के प्रसव का समय नजदीक आ रहा था। एक भय मन में समाया था कि सही तरीके से प्रसव निपट जाए।…

0 Comments

बरसात

मदन गोपाल शाक्य ‘प्रकाश’फर्रुखाबाद (उत्तर प्रदेश)************************************** बनके बदली बरसती,घनघोर चहुँओर।दादुर दौड़े घूमते,घिरे घटा घनघोर॥ प्यासी धरा पुकारती,बरसो दीनदयाल।भीगे दामन भूमि का,हरियाली तत्काल॥ सारंग ने सारंग दियो,सारंग बरसो आए।सारंग जो मुख…

0 Comments

इम्यूनिटी

डॉ.शैल चन्द्राधमतरी(छत्तीसगढ़)**************************************** "हम लोग रोज सुबह-शाम काढ़ा पी रहे हैं। काजू बादाम पिस्ता जैसे डॉयफ्रूट खा रहे हैं। सेब,अनार,मौसम्बी,संतरा का जूस पी रहे हैं। पनीर,पीनट मक्खन खा रहे हैं। दोनों…

0 Comments

सपना

सुरेन्द्र सिंह राजपूत हमसफ़रदेवास (मध्यप्रदेश)****************************************** फैक्ट्री की नौकरी में रमेश का मन बिल्कुल नहीं लगता था लेकिन घर की परिस्थिति और मज़बूरी के कारण उसे ये नौकरी करना बहुत ज़रूरी था।…

0 Comments

गंंभीरता

डॉ.पूर्णिमा मंडलोईइंदौर(मध्यप्रदेश) *************************************** घर-परिवार स्पर्धा विशेष…… सरला के ३ बेटे और बहुएं थी। सबसे छोटे बेटे की शादी को अभी लगभग १ साल ही हुआ था। छोटी बहू अभी घर…

0 Comments

हम होंगे कामयाब

डॉ.मधु आंधीवालअलीगढ़(उत्तर प्रदेश)**************************************** घर-परिवार स्पर्धा विशेष…… सुमि आज बच्चों की आपस की बातें कान लगा कर सुन रही थी। आज उसकी सासू जी का जन्म दिन था। जब एनसीआर में…

0 Comments

सुखिया और हरियाली

मीरा जैनउज्जैन(मध्यप्रदेश) ************************************************ पेड़ विहीन इस गाँव में हरियाली हेतु वन विभाग ने तीन वर्ष पूर्व समस्त गाँव वासियों को विभिन्न प्रकार के शीघ्र बढ़ने वाले पौधे वितरित कर उनकी…

0 Comments

स्वयंवर

रोहित मिश्रप्रयागराज(उत्तरप्रदेश)*********************************** पुराने समय में मगध देश में विश्वजीत नाम के राजा राज करते थे। विश्वजीत अत्यंत ही पराक्रमी और वीर योद्धा थे। उन्होंने अपनी ताकतवर सेना के बल पर…

0 Comments

ऊँची सोच

रोहित मिश्रप्रयागराज(उत्तरप्रदेश)*********************************** रवि-'अरे यार क्या पढ़ाई कर रहे हो ? आज तो मास्टर जी भी नहीं आए हैं।'सुनील-'ऐसे ही किताब देख रहा था।'रवि-'अरे यार ज्यादा पढ़ाई करने से क्या फायदा…

0 Comments