रचना पर कुल आगंतुक :117

ये लड़ाई हमारी खुद से

मोहित जागेटिया
भीलवाड़ा(राजस्थान)
**************************************************************************

आओ हम सब मिल,
‘कोरोना’ के ख़िलाफ़ ये लड़ाई लड़ें
सब अपने अपने घरों में रह कर,
कोरोना महामारी को हराएं।
ये लड़ाई हमारी खुद से है,
खुद को हम कितना सुरक्षित रखते हैं
आज जितना हम खुद बचाएंगे,
आने वाला कल हमारा सबका सुरक्षित होगा।
कैसी ये महामारी,
जिससे आज पूरी दुनिया घबराई है
सम्पूर्ण विश्व में हाहाकार मचा है,
इस बीमारी को हम सबको
मिल कर हराना है।
इसका बचाव ये ही है,
हम सिर्फ और सिर्फ अपने घरों में ही रहें
घर में ही बार-बार अच्छे से हाथ धोएं,
ये जंग अपने घरों के
भीतर से ही जीती जाएगी।
ये महामारी दुनिया में कहीं से भी आई हो,
पर हम हिंदुस्तान से भगा कर…
विश्व के विजेता बनेंगे॥

परिचय–मोहित जागेटिया का जन्म ६ अक्तूबर १९९१ में ,सिदडियास में हुआ हैl वर्तमान में आपका बसेरा गांव सिडियास (जिला भीलवाड़ा, राजस्थान) हैl यही स्थाई पता भी है। स्नातक(कला)तक शिक्षित होकर व्यवसायी का कार्यक्षेत्र है। इनकी लेखन विधा-कविता,दोहे,मुक्तक है। इनकी रचनाओं का प्रकाशन-राष्ट्रीय पत्र पत्रिकाओं में जारी है। एक प्रतियोगिता में सांत्वना सम्मान-पत्र मिला है। मोहित जागेटिया ब्लॉग पर भी लिखते हैं। आपकी लेखनी का उद्देश्य-समाज की विसंगतियों को बताना और मिटाना है। रुचि-कविता लिखना है।

Leave a Reply