mohit

Showing 10 of 60 Results

बसंत गीत

मोहित जागेटियाभीलवाड़ा(राजस्थान)************************************** वसंत पंचमी स्पर्धा विशेष ….. भंवरे भी गुनगुना रहे,कोयल पपिया बोल रही हैअब ये मौसम भी बदल रहा है,लग रहा है ये बसंत का मधु मास है। खेतों […]

मोहब्बत का समंदर बन जाऊँगा

मोहित जागेटियाभीलवाड़ा(राजस्थान)************************************** काव्य संग्रह हम और तुम से…. इन यादों के संग मैं मोहब्बत का सफर बन जाऊँगा।निगाहें देखी जिसको भी मैं तो वो नजर बन जाऊँगा। चलना है जिंदगी […]

तुम्हारे बगैर…

मोहित जागेटियाभीलवाड़ा(राजस्थान)************************************************* तुम्हारे बगैर कुछ भी,मन नहीं लगता हैतन उदास-उदास रहता,कुछ भी अच्छानहीं लगता है।दिल बेचैन है,मासूम-सा चेहरानिराश,निराश रहता है।तुम्हारी याद हर पल,बहुत आती हैतड़पता है दिल रोता है,बगैर तुम्हारे […]

शुभ दीपावली

मोहित जागेटियाभीलवाड़ा(राजस्थान)************************************************* ये रौशनी का पावन पर्व हम सबके तन-मन में बसे तिमिर को हटाए।हर घर-आँगन खुशियों का दीप जलाएं। दीपक बन कर जग को जगमग कर जाएं,हम तन-मन में […]

शुभ मुहूर्त आया

मोहित जागेटियाभीलवाड़ा(राजस्थान)******************************************************************** वर्षों-वर्ष बीत गये अब शुभ मुहूर्त आया,अब भव्य मंदिर बनेगा ये सपना सजाया। सारे देवता से पुष्प धरा पर बरसेंगे,इस शुभ मुहूर्त को देव दर्शन को तरसेंगे। अब […]

नफरत वाले हारे

मोहित जागेटियाभीलवाड़ा(राजस्थान)******************************************************************** मेरे गुलशन को तुम महकाते हो,मेरे आँगन में तुम खिल जाते हो।तुम में मधुरस भरा महकती साँसें-प्रीत की धरा इस तरह सजाते हो॥ प्रीत झरोखे से प्रेम झरना […]

वे भारत माँ के लाल

मोहित जागेटियाभीलवाड़ा(राजस्थान)******************************************************************** इस मिट्टी में अपनालहू ले कर चलते हैं,मातृभूमि पर प्राणन्यौछावर कर देते हैं,वो भारत माँ के लालघर-परिवार छोड़ करदेश साथ रखते हैं।मिटा देते ख़ुद को,तिरंगे की आन के […]

महाराणा प्रताप अमर अमिट योद्धा

मोहित जागेटिया भीलवाड़ा(राजस्थान) ************************************************************************** ‘महाराणा प्रताप और शौर्य’ स्पर्धा विशेष………. उस हल्दी घाटी में आज चेतक का धाम है, वीर शौर्य उस महाराणा प्रताप का नाम है। रण के मैदान […]

कैसा सफ़र है…

मोहित जागेटिया भीलवाड़ा(राजस्थान) ************************************************************************** मजदूरों की ये कैसी अभिलाषा है ? अब क्या ये ही इनकी ये परिभाषा है ? भूखे-प्यासे अपने बच्चे ले चलते- इनके जीवन की अब किनको […]

बहुत बिखर गया हूँ

मोहित जागेटिया भीलवाड़ा(राजस्थान) ************************************************************************** बहुत थका हुआ हूँ,अभी बहुत बिखर गया हूँ। सफ़र पहले अच्छा था अब किस सफ़र गया हूँ। तेरे आने से पहले घर बहुत अच्छा था, जब […]