ग़ज़ल

7 views

माँ

शंकरलाल जांगिड़ ‘शंकर दादाजी’ रावतसर(राजस्थान)  *********************************************************************************- माँ प्यार तेरे जैसा पाऊँ कहाँ से मैं। तुम जैसा कोई दूजा...

14 views

मंजर

पंकज भूषण पाठक ‘प्रियम’ बसखारो(झारखंड) *************************************************************************** वक्त भी अब कैसा मंजर दिखाने लगा है, बाप पर अब बेटा...

13 views

काम अटकाना मत…

अब्दुल हमीद इदरीसी ‘हमीद कानपुरी’ कानपुर(उत्तर प्रदेश) ***************************************************** नेह निमन्त्रण ठुकराना मत। डोर प्यार की चटकाना मत। काम...

14 views

बाबूजी और माँ…

डॉ.दिलीप गुप्ता घरघोड़ा(छत्तीसगढ़) ******************************************************** मेरी आमद ये तन-मन जान मेरे बाबूजी और माँ। मेरी इज्जत मेरा सम्मान मेरे...

8 views

दरिया पार कैसे हो

प्रदीपमणि तिवारी ध्रुव भोपाली भोपाल(मध्यप्रदेश) ********************************************************************************************* कोई माझी बिना कश्ती वो दरिया पार कैसे हो। समंदर से अगर यारी...

16 views

नया चाँद लग रहा है

आनंद कुमार पाठक बरेली(उत्तर प्रदेश) ************************************************************ नया चाँद लग रहा है,नई आज चाँदनी है, तू करीब मेरे आजा,तेरी...

26 views

क्या लिखोगे तुम…

बैजनाथ शर्मा ‘मिंटू’ अहमदाबाद (गुजरात) ********************************************************************* चोर-लफंगों की बस्ती में क्या लिक्खोगे तुम साहित्य। गीत-ग़ज़ल-दोहे कड़की में क्या...

17 views

हद में रहो

दौलतराम प्रजापति ‘दौलत’ विदिशा( मध्यप्रदेश) ******************************************** हो कोई भी तुम किसी कद में रहो। कह दिया न आपसे हद...

7 views

ज़िन्दगी की कसौटी

प्रदीपमणि तिवारी ध्रुव भोपाली भोपाल(मध्यप्रदेश) ********************************************************************************************* ज़िन्दगी की कसौटी बड़ी बात है। रब से होना कभी भी मुलाक़ात है।...

6 views

धूप है,और कुहरा है…

विजयलक्ष्मी विभा  इलाहाबाद(उत्तरप्रदेश) ********************************************************* आज मौसम का रंग दुहरा है, धूप निकली है और कुहरा है। मैं जो...