रचना पर कुल आगंतुक :134

You are currently viewing पूंजीवाद और कर

पूंजीवाद और कर

डॉ.हेमलता तिवारी
भोपाल(मध्य प्रदेश)
***********************************

हर तरफ खबर ही खबर,
हर तरफ नये-नये मंज़र
सादगी की खाल ओढ़े छुपे हुए खंजर।

कहीं तो कमाकर खाने के लाले,
कहीं करोडों के घोटाले।

देह के थक कर चूर-चूर होने तक काम का बोझ,
तो सिर्फ इत्र की कमाई से भरे तहखानों का कोष।

पूंजीवाद की बढ़ती मानसिकता,
और शेयर बाज़ार की अन्धी दौड़
आकन्ठ डूबे भ्रष्टाचार में,
नैतिकता की गिरती होड़।

‘मत’ की राजनीति का खेल,
नेता खेल रहे हैं
‘कर’ के पैसों को ‘अनुदान’ में फूँक
रहे हैं।

मुफ्त में सब-कुछ मिल जाए,
काम ना करना पड़ जाए
भले ना बचे आत्म सम्मान,
लूट में सब-कुछ मिल जाए।

छोटे-छोटे कामों से भी खुशियाँ,
पैसा मिलता है
सीए,डॉक्टर,इन्जीनियर हों सब,
ऐसा कैसे हो सकता है…?

लालच की राहों पर चलकर,
राष्ट्र से धोखा करते हम
कब बाँटेंगे सुविधाओं को,
कब बदलेंगे खुद को हम…?

जीवन की कीमत तो हमको,
‘कोरोना’ ने समझा दी है
बाकी प्रकृति क्या कर देगी,
ये भी बात बता दी है।

घोटालों के देश में हमने,
सबसे ऊंचा नाम किया है
पूंजीवाद के चलते हमने,
कितनों को गुमनाम किया है।

लोंगों की गाढ़ी कमाई ढोकर,
विदेश ले जाते हैं
प्रत्यर्पण के कानून को भी हम,
धता बता जाते हैं।

चलिए मिलकर हम सब अब,
एक नया भारत बनाएँ।
सबको मिले बुनियादी सुविधा,
ऐसा कुछ हम कर जाते हैं।
ऐसा कुछ हम कर जाते हैं…॥

परिचय-डॉ.हेमलता तिवारी का जन्म १४ नवम्बर १९६५ को सागर में हुआ हैL वर्तमान में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में निवास है,जबकि स्थायी पता भोपाल(मध्य प्रदेश) हैL बी.एस-सी,(जीवविज्ञान)बी.ए.(संगीत), एम.ए (संगीत, इतिहास, दर्शन,लोक प्रशासन,एजूकेशनल सायकोलॉजी, क्लीनिकल साय.,आर्गेनाइजेशनल साय.)एल.एल.बी.,पी.जी.डी.(लेबर लॉ एंड इण्डस्ट्रियल रिलेशन)सहित पी.एच-डी.(इन क्लीनिकल साय.), एम.बी.ए.(वित्त और मानव संसाधन) की शिक्षा प्राप्त डॉ.तिवारी का कार्य क्षेत्र-नौकरी हैL सामाजिक गतिविधि के तहत आप व्यक्तित्व विकास प्रशिक्षक,परामर्शी सहित ज्योतिष लेखन में सक्रिय हैंL इनकी लेखन विधा-कविता,कहानी एवं आलेख हैL हिन्दी सहित अंग्रेजी का भाषा ज्ञान रखती हैं।

Leave a Reply