कुल पृष्ठ दर्शन : 1486

You are currently viewing वैश्विक हिंदी सेवा सम्मान घोषित, १९ को संगोष्ठी

वैश्विक हिंदी सेवा सम्मान घोषित, १९ को संगोष्ठी

🔹हिन्दीभाषा डॉट कॉम के सम्पादक होंगे सम्मानित

मुम्बई (महाराष्ट्र)।

भारतीय भाषाओं के प्रयोग व प्रसार के लिए पिछले १० वर्षों से राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कार्यरत संस्था ‘वैश्विक हिंदी सम्मेलन’ (मुम्बई) के निदेशक द्वारा वैश्विक हिंदी सेवा सम्मानों की घोषणा कर दी गई है। यह अलग-अलग सेवियों को १९ जनवरी को दिए जाएंगे। इसमें हिन्दीभाषा डॉट कॉम के सम्पादक अजय जैन ‘विकल्प’ को भाषा की सेवार्थ सम्मानित किया जाएगा।
निदेशक डॉ. मोतीलाल गुप्ता ‘आदित्य’ ने बताया कि, न्याय-क्षेत्र में जनभाषा हिंदी के आधिकाधिक प्रयोग व प्रसार के लिए मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के अधिवक्ता अनिल त्रिवेदी को, चिकित्सा तथा चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में अपने आलेखों, पुस्तक लेखन तथा व्याख्यानों आदि के माध्यम से हिंदी के प्रयोग व प्रसार को बढ़ाने के लिए निरंतर कार्यरत डॉ. मनोहर भंडारी को सम्मानित किया जाना है। इसी कड़ी में पत्रकारिता एवं हिन्दीभाषा डॉट कॉम के माध्यम से राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हिंदी भाषा तथा साहित्य के प्रयोग व प्रसार को बढ़ाने के लिए वरिष्ठ पत्रकार तथा डॉटकॉम के संस्थापक- सम्पादक श्री जैन को ‘वैश्विक हिंदी सेवा सम्मान’ से सम्मानित किया जाएगा।
आपने बताया कि, वरिष्ठ भारतीय भाषा-सेवी श्री निर्मल कुमार पाटोदी पिछले ५० वर्ष से भी अधिक समय से अपने लेखन, व्याख्यानों व प्रचार आदि के माध्यम से भारतीय भाषाओं के प्रयोग व प्रसार को बढ़ाने में लगे हैं, उन्हें और हिंदी भाषा साहित्य के संवर्धन के लिए वरिष्ठ कवि-साहित्यकार प्रो. सरोज कुमार को ‘आजीवन वैश्विक हिंदीसेवा सम्मान’ से विभूषित करने का निर्णय लिया गया है। इन सभी को ये सम्मान शुक्रवार १९ जनवरी को अपराह्न २ बजे प्रेस क्लब इंदौर (महात्मा गांधी मार्ग) में वैश्विक हिंदी सम्मेलन, भारतीय भाषा मंच तथा प्रेस क्लब के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित वैश्विक संगोष्ठी में मुख्य अतिथि म.प्र. उच्च न्यायालय के न्यायाधीश (से.नि.) न्यायमूर्ति जरत कुमार जैन के करकमलों से प्रदान किए जाएंगे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास (दिल्ली) के राष्ट्रीय सह-संयोजक ए. विनोद करेंगे। यहाँ ‘भारत और भारतीय भाषाएँ’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी में शिक्षा, मीडिया, न्यायपालिका, व्यापार, प्रशासन, बैंकिग सहित सभी क्षेत्रों के लोग उपस्थित रहेंगे।