कुल पृष्ठ दर्शन : 119

You are currently viewing संग्रह ‘हवा का झोंका थी वह’ लोकार्पित

संग्रह ‘हवा का झोंका थी वह’ लोकार्पित

नई दिल्ली।

अनिता रश्मि के नव्यतम कथा संग्रह ‘हवा का झोंका थी वह’ का लोकार्पण प्रभात प्रकाशन के सभागार में हुआ। हर आदमी के अंदर दो जंगल हुआ करते हैं। एक खूबसूरत, दूसरा भयावह। साहित्यकार इन्हीं दो को बचाने के लिए लिखता है, अनिता रश्मि ने अपनी रचनात्मकता के बारे में उक्त लेखकीय वक्तव्य दिया। आयोजन की अध्यक्षता डॉ. अशोक प्रियदर्शी ने की। मुख्य अतिथि डॉ. विद्याभूषण, विशिष्ट अतिथि डॉ. माया प्रसाद व निरंजन प्रसाद श्रीवास्तव रहे। प्रसिद्ध उपन्यासकार राकेश कुमार सिंह, दूरदर्शन के पूर्व निदेशक-साहित्यकार पी.के. झा, सुप्रसिद्ध कथाकार पंकज मित्र सहित डॉ. प्रसाद और निरंजन प्रसाद श्रीवास्तव ने भी संग्रह पर सारगर्भित बातें रखीं। स्वागत रश्मि शर्मा ने किया। संचालन कवि घनश्याम श्रीवास्तव ने किया।

Leave a Reply