jharkhandi

Showing 10 of 12 Results

जीवन एक झरना

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ***************************************************** यह जीवन जैसे एक झरना है,चलना बस इसे चलते रहना हैकुछ कुछ संग लेकर चलना है,कुछ कुछ छोड़ आगे बढ़ना है।यह जीवन जैसे एक झरना […]

विश्व कल्याण

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ********************************************************************** मिलाओ नजरें तो इसारे छोड़ दूँ,मिले हौंसला गर तो उमंगें भर दूँदिखाया रास्ता तो मंजिल जोड़ दूँ,तुम अगर साथ दो तो तारे तोड़ दूँ। यह […]

बेटा

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’ धनबाद (झारखण्ड)  ************************************************************************** बेटा हूँ मैं… बेटे की बात बता रहा, मैं भाव लिए खुशी के दु:ख को है छिपा रहा, कहलाता मैं कुलदीपक जल-जल के […]

सपनों का भारत हो साकार

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’ धनबाद (झारखण्ड)  ************************************************************************** दशहरे की आपको बहुत-बहुत बधाई, दशहरे की आपको बहुत बहुत बधाई मिठास आए जीवन में जैसे हो मिठाई, मिले साथ औरों का जैसे […]

शहीद जवानों को नमन

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’ धनबाद (झारखण्ड)  ************************************************************************** कारगिल विजय दिवस स्पर्धा विशेष………. हमारे वीर शहीद जवानों तुम्हें है नमन, रक्षार्थ देश हेतु तुम्हारा हुआ पुण्य गमनl रखेगा याद तुम्हें युगों […]

इच्छा किसान की

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’ धनबाद (झारखण्ड)  ************************************************************************** नहीं है इच्छा मैं अमीरों में गिना जाऊँ, नहीं है आशा मैं दुनिया की सैर पाऊँ। नहीं है इरादा मैं बैठा हुआ आराम […]

गिरता मानव-घटती संस्कृति

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’ धनबाद (झारखण्ड)  ************************************************************************** मानव ईश्वर की श्रेष्ठतम रचना है। सभी जीवों में मानव ही एकमात्र ऐसा जीव है जो सटीक बोल सकता है,जिसके पास बुद्धि है,संवेदना […]

बचपन सुहाना

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’ धनबाद (झारखण्ड)  ************************************************************************** बचपन था कितना सुहाना, गमों से था मैं तब अनजाना मानता था मैं पिता का कहना, पढ़ना खेलना और मौज मनाना। बचपन था […]

माता

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’ धनबाद (झारखण्ड)  ************************************************************************** मातृ दिवस स्पर्धा विशेष………… दुनिया में समाई जिसमें शक्ति अपार, जिसके अंदर है असीम ममता और प्यार कठिन परिस्थितियों में जो ना माने […]

गर्मी

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’ धनबाद (झारखण्ड)  ************************************************************************** सर्दी जाती गर्मी आती, शुरू शुरू में यह सबको भाती। स्वेटर रजाई को दूर भगाती, जब वह अपने रंग में आती… सबको वह […]