कुल पृष्ठ दर्शन : 346

You are currently viewing कवि सम्मेलन में गूँजे गणेश भक्ति के स्वर

कवि सम्मेलन में गूँजे गणेश भक्ति के स्वर

महू (मप्र)।

मुरली मनोहर गणेशोत्सव के तत्वावधान में महू के वक्ष स्थल मोती चौक पर विराट कवि सम्मेलन का आयोजन कवि विनोद सिंह गुर्जर और कवि भगवान दास तरंग के संयोजन में किया गया। मुख्य अतिथि श्रेष्ठ प्राचार्य पुरस्कार से सम्मानित जयसिंह परमार (जे.जी. हा. से. स्कूल) रहे।
इस कार्यक्रम के आयोजक हरिओम खंडेलवाल रहे।
आयोजन का कवयित्री पायल परदेशी द्वारा गणेश वंदना कर शुभारंभ किया गया। संध्या मयूरी ने माँ सरस्वती की आराधना की। खंडेलवाल टेंट हाऊस के सौजन्य से सभी कवियों को सम्मान में मोती की माला पहनाई गई। सुधी श्रोताओं में मातृशक्ति भी मध्यरात्रि तक कवियों को सुन वाह-वाह कर आनंदित होती रहीं। विनोद सिंह गुर्जर (गणेश महिमा), भगवान दास तरंग (हास्य), डॉ. विमल सक्सेना (महाराणा प्रताप), यश कौशल (माँ) और रविन्द्र पंवार (हास्य) आदि ने अपनी रचना का पाठ कर वाह-वाही बटोरी। इंदौर निवासी जितेन्द्र ‘राज’ ने श्रेष्ठ संचालन करते हुए सबको लुभाया।

प्रधान सम्पादक राजेश शर्मा ने सभी कवियों की सराहना और काव्य का वर्तमान में उद्देश्य पर विचार प्रस्तुत करते हुए आभार व्यक्त किया।