कुल पृष्ठ दर्शन : 444

हमारी हिंदी

आशा जाकड़ ‘ मंजरी’
इन्दौर(मध्यप्रदेश)
***********************************************

हिंदी हमारी शान है,
हिंदी हमारी जान है
हिंदी हमारी भाषा में,
पूरा हिन्दुस्तान है।

हिंदी हमारी आन है,
हिंदी हमारा मान है
हिंदी हमारी भाषा में,
भारत का सम्मान है।

हिंदी हमारी है सरल,
हिंदी हमारी है सहज
हिंदी हमारी भाषा तो,
सब भाषाओं में विरल।

हिंदी हमारी है अनमोल,
जिसका न कोई है मोल
हिंदी हमारी भाषा को,
तोल-मोल के बोल।

हिन्दी में ही प्रेम है,
हिंदी में ही करुणा है
हिंदी हमारी भाषा में,
भावों का भंडार है।

हिंदी में एकता है,
हिंदी में समता है
हिंदी हमारी भाषा में,
जीवन की समरसता है।

हिन्दी में ही प्यार है,
हिन्दी में ही दुलार है।
हिन्दी हमारी भाषा में,
ममता का संसार है।

हिंदी में अपनत्व है,
हिंदी में ही ममत्व है
हिंदी हमारी भाषा का,
भाषाओं पर प्रभुत्व है।

हिंदी में ही राम है,
हिंदी में ही श्याम है
हिंदी हमारी भाषा में,
शिव शंकर भगवान है।

हिंदी में जो माता है,
हिंदी में वह जननी है।
हिंदी हमारी भाषा में,
नामों के उपनाम है॥

Leave a Reply