sunil

Showing 10 of 23 Results

कुहू-कुहू बोले रे कोयलिया…

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) ********************************************************** कदम्ब की डाल पर डोलती कोयल,पीऊ-पीऊ,कुहू-कुहू बोलती कोयल। सुख-दु:ख में शुभ गीत गाने वाली,थके-मांदे लोगों को झुमाने वाली। इस डाल से उस डाल पर डोलती […]

आकर मेहमान जैसे जाएगा ‘कोरोना’..

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) ********************************************************** आकर मेहमान जैसे जाएगा कोरोना, ‘लॉकडाउन’ का पालन कर,हाथ हरदम धोना।। सामाजिक दूरी,है बहुत जरूरी, धैर्य धारण करो,इच्छाएं होंगी पूरी। सबको हँसाना,मत हिम्मत हार रोना, […]

इक्कीस दिन…

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) ********************************************************** अमवा बाजार गाँव को एक फुलवारी ही समझिए,जिसमें सभी रूप-रंगों और सुगंधों के पुष्प खिले हुए हैं। इन पुष्पों में एक पुष्प है ‘माधुरी’ जो […]

प्रेमाकर्षण

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) ********************************************************** यह प्रेम नहीं,आकर्षण है, तन-मन का घर्षण है… प्रेम पूजा है,जाप है आकर्षण अभिशाप है… मन से मन जब घुले-मिले तब प्रेम की कली खिले। […]

ज़िन्दगी इक नदी…

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) ********************************************************** जिंदगी इक नदी है, अनवरत प्रवाह किए बिना परवाह, आगे बढ़ते ही जाना वापस कभी ना आनाl ‘सावन’ समय के साथ, कदमताल मिलाना धार से […]

फिसल गयी जिंदगी…

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) *********************************************** समय की रेत पर फिसल गयी जिंदगी, देखते ही देखते में ढल गयी जिंदगी। करवटें बदल-बदल सोया निश दिन, अंत में करवट बदल गयी जिंदगी। […]

ताजमहल

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) *********************************************** नल के जल को भी गंगाजल समझिए, भूलकर भी न दुश्मन को निर्बल समझिए। जो हो गया सो हो गया,मत रोइए, मिले हुए हर फल […]

कुहू-कुहू बोले कोयलिया..

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) *********************************************** कदम्ब की डाल पर डोलती कोयल, पीऊ-पीऊ,कुहू-कुहू बोलती कोयल। सुख-दु:ख में शुभ गीत गाने वाली, थके-मांदे लोगों को झुमाने वाली। इस डाल से उस डाल […]

प्यार करूं कैसे

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) *********************************************** मुझे नफरत है प्यार से,प्यार करूं कैसे, वो प्यार करती है मुझसे,इन्कार करूं कैसे। गुलाबी होंठों से टपकता है ‘सावन’-स्नेह रस, छात्र जीवन में आशिकी […]

ज़िन्दगी ना मिलेगी दोबारा

सुनील चौरसिया ‘सावन’ काशी(उत्तरप्रदेश) *********************************************** ज़िन्दगी ना मिलेगी दोबारा… कुछ इस तरह से कर लो गुजारा, कि ज़िन्दगी बन जाए सितारा। मम्मी-पापा प्रेम से कहें- बिटिया है प्यारी,बेटा है प्यारा। […]