surendra

Showing 10 of 23 Results

सपना

सुरेन्द्र सिंह राजपूत हमसफ़रदेवास (मध्यप्रदेश)****************************************** फैक्ट्री की नौकरी में रमेश का मन बिल्कुल नहीं लगता था लेकिन घर की परिस्थिति और मज़बूरी के कारण उसे ये नौकरी करना बहुत ज़रूरी था। […]

घर की शोभा नारी

सुरेन्द्र सिंह राजपूत हमसफ़रदेवास (मध्यप्रदेश)****************************************** घर-परिवार स्पर्धा विशेष…… मैंने अकेले रहते हुए,घर में हर सुख सुविधा जुटाईलेकिन-वो ख़ुशी कभी न पाई,जो माँ,बहिन,बेटी,बहू,पत्नी के रहने से होती है।सच पूछो तो घर कितना […]

दया

सुरेन्द्र सिंह राजपूत हमसफ़रदेवास (मध्यप्रदेश)****************************************** अपनी बाईक स्टैण्ड पर खड़ी कर मैं बस की तरफ़ बढ़ रहा था,तभी एक भिखारी हाथ में भगवान की फ़ोटो लिए मुझसे पैसे मांगने लगा। मुझे […]

‘ये शब्द गीत मेरे’ आमजन की जिजीविषा के स्वर

सुरेंद्र कुमार अरोड़ाग़ज़ियाबाद(उत्तरप्रदेश) ************************************** मनुष्य ने शब्दों का संसार भले ही स्वयं रचा है,परन्तु शब्दों के रचना-विन्यास की अनुभूति और अभिव्यक्ति की सामर्थ्य तो उसे उस अदृश्य शक्ति ने दी है,जिसे […]

आज़ाद परिन्दे

सुरेन्द्र सिंह राजपूत हमसफ़रदेवास (मध्यप्रदेश)******************************************************* नीलिमा विवाह के पश्चात अपनी ससुराल के सारे रीति-रिवाज़ सम्पन्न होने के बाद पहली बार उस शहर में आई,जहाँ उसके पति बैंक अधिकारी थे। अच्छा बड़ा-सा […]

श्री गणेश महिमा

सुरेन्द्र सिंह राजपूत हमसफ़रदेवास (मध्यप्रदेश)******************************************************************** श्री गणेश चतुर्थी स्पर्धा विशेष….. महिमा गणेश जी की बड़ी है निराली।भक्तों की अपने हरदम भरते झोली खाली।महिमा गणेश जी की… मातृ-पितृ सेवा करके जग को […]

निश्चित सूरज कल निकलेगा

शिवेन्द्र मिश्र ‘शिव’ लखीमपुर खीरी(उप्र) **************************************************** कोशिश कर ले हल निकलेगा। पत्थर से भी जल निकलेगा। बहुत घना तम छाया लेकिन- निश्चित सूरज कल निकलेगा। घूम रही है मौत सड़क […]

सम्बन्धों में नज़दीकी बनाए रखना है,भले ही दूरी हो

सुरेन्द्र सिंह राजपूत हमसफ़र देवास (मध्यप्रदेश) ****************************************************************************** सामाजिक सम्बन्ध और दूरी स्पर्धा विशेष……….. ‘सामाजिक सम्बन्ध और दूरी’ बहुत ही अच्छा विषय है,वर्तमान में विश्व ‘कोरोना’ महामारी से जूझ रहा है, ऐसे समय […]

अच्छा अपना गाँव रे…

सुरेन्द्र सिंह राजपूत हमसफ़र देवास (मध्यप्रदेश) ****************************************************************************** शहर की हलचल,भागदौड़ से, अच्छा अपना गाँव रे…। सुकूँ जहाँ मिलता है दिल को, प्यारा ऐसा ठाँव रे…। शहर की हलचल… कल-कल करती बहती […]

‘कोरोना’ भगाना है

सुरेन्द्र सिंह राजपूत हमसफ़र देवास (मध्यप्रदेश) ******************************************************************************* सुनो भाईयों नारा ये, जन-जन तक पहुँचाना है। ‘कोरोना’ हराना हमको, कोरोना भगाना है। सुनो भाइयों नारा ये, जन-जन तक पहुँचाना है। कोरोना हराना […]