Tag: devangan

4 views

फागुन

महेन्द्र देवांगन ‘माटी’ पंडरिया (कवर्धा )छत्तीसगढ़  ************************************************** फागुन आया मस्ती लाया,रंग गुलाल उड़ाये। बाग-बगीचा सुंदर दिखते,भौंरा गाना गाये॥...

9 views

माँ से बढ़कर कोई नहीं

महेन्द्र देवांगन ‘माटी’ पंडरिया (कवर्धा )छत्तीसगढ़  ************************************************** माँ की ममता होती प्यारी,कोई जान न पाये। हर संकट से...

31 views

चिड़िया रानी 

प्रिया देवांगन ‘प्रियू’ पंडरिया (छत्तीसगढ़) *********************************************************************** चिड़िया रानी बड़ी सयानी, दिनभर पीती पानी। दाना लाती अपना खाती, बच्चों...

39 views

मदारी

प्रिया देवांगन ‘प्रियू’ पंडरिया (छत्तीसगढ़) *********************************************************************** बंदर आया बंदर आया, एक मदारी उसको लाया। बंदर को उसने बहुत...

26 views

ठंड

प्रिया देवांगन ‘प्रियू’ पंडरिया (छत्तीसगढ़) *********************************************************************** ठंड का मौसम है आया, चारों तरफ धुआँ है छाया सूरज छत...

59 views

पेड़ लगाओ

महेन्द्र देवांगन ‘माटी’ पंडरिया (कवर्धा )छत्तीसगढ़  ************************************************** मिल जुलकर सब पेड़ लगाओ। ताजा-ताजा फल को खाओ॥ देता है...

31 views

कर्म करो

महेन्द्र देवांगन ‘माटी’ पंडरिया (कवर्धा )छत्तीसगढ़ ************************************************** कर्म किये जा प्रेम से,चिन्ता में क्यो रोय। जैसा तेरा कर्म...

31 views

काहे सतायौ मोकू

डॉ.नीलम वार्ष्णेय ‘नीलमणि’ हाथरस(उत्तरप्रदेश)  ***************************************************** "रोवत है मेरे नयन सारी सारी रात। भीगी पलकों की जलन कर गई...

40 views

गुड़िया रानी

 महेन्द्र देवांगन ‘माटी’ पंडरिया (कवर्धा )छत्तीसगढ़  ************************************************** छम-छम करती गुड़िया रानी,खेले छप-छप पानी। उछल-कूद वह करती रहती,डाँटे उसको...

56 views

सर्दी आई

महेन्द्र देवांगन ‘माटी’ पंडरिया (कवर्धा )छत्तीसगढ़  ************************************************** सुबह-सुबह अब चली हवाएँ। सर्दी आई जाड़ा लाए। ओढ़े कंबल और...