आत्मा का स्वाभाविक धर्म है क्षमा

क्षितिज जैन जयपुर(राजस्थान) ********************************************************** जैन धर्म में पर्यूषण पर्व के उपरांत 'क्षमावाणी' पर्व मनाया जाता है,जिसमें प्रत्येक व्यक्ति अन्य से जाने-अनजाने में किए गए किसी ऐसे काम के लिए क्षमा…

0 Comments

जिन्दगी हर पल एक नया अवसर

ललित गर्ग दिल्ली ******************************************************************* हमारी जिंदगी उतार-चढ़ावों से भरी होती है। हम सब सोचते हैं कि यदि अवसर मिलता तो एक बढ़िया और नेक काम करते,लेकिन हमारी बढ़िया या नेक…

0 Comments

जाकिर का विष सम्पूर्ण मानवता के लिये गंभीर खतरा

ललित गर्ग दिल्ली ******************************************************************* भारत में साम्प्रदायिक सौहार्द एवं आपसी भाईचारे की तस्वीर को रौंदने वाले,हमेशा ही विवादों को अपने साथ लेकर चलते वाले एवं खुद को धर्मोपदेशक कहने वाले…

0 Comments

व्यथा भारतमाता की

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’ धनबाद (झारखण्ड)  ************************************************************************** दोस्तों,सपने में १५ अगस्त २०१९ की सुबह हो गई है। हमें आजाद हुए ७२ वर्ष पूरे हुए। चारों ओर लोग एक-दूसरे को बधाईयाँ…

2 Comments

अपनी चुप्पी तोड़ें…

डॉ. स्वयंभू शलभ रक्सौल (बिहार) ****************************************************** १७ साल की एक लड़की एक विधायक के घर नौकरी के लिए बात करने जाती है और फिर कुछ समय बाद वह बताती है…

0 Comments

आँचल का पहला फूल

शंकरलाल जांगिड़ ‘शंकर दादाजी’ रावतसर(राजस्थान)  *********************************************************************************- माँ का आँचल और आँचल का पहला फूल नारी को सम्पूर्ण नारीत्व का भान कराता है। माँ बनना नारी की सम्पूर्णता है। मातृत्व का…

0 Comments

देशहित के लिए अंर्तराष्ट्रीय कर्ज का बोझ

सुशीला रोहिला सोनीपत(हरियाणा) ************************************************************** भारत देश विकास और तकनीकी के क्षेत्र में विकासशील देशों के दायरे में आ गया है। आज मोदी की जय-जयकार के नारे भारत देश ही नहीं,विदेशों…

0 Comments

तुलसीदास के शब्दों में गुरु महिमा

संदीप सृजन उज्जैन (मध्यप्रदेश)  ****************************************************** गुरु पूर्णिमा १६ जुलाई विशेष............ भारतीय वांग्मय में गुरु को इस भौतिक संसार और परमात्म तत्व के बीच का सेतु कहा गया है। सनातन अवघारणा…

0 Comments

जनसंख्या वृद्धि ले जाएगी विनाश की कगार पर

संदीप सृजन उज्जैन (मध्यप्रदेश)  ****************************************************** विश्व जनसंख्या दिवस(११ जुलाई)विशेष............. वर्तमान में विश्व की जनसंख्या साढ़े सात अरब के आँकड़े को पार कर चुकी है,और जिस रफ़्तार से जनसंख्या बढ़ रही…

0 Comments

निजी चैनलों में हिन्दी में बजट और दूरदर्शन में आंग्लभाषा…

डॉ.राजेश्वर उनियाल मुंबई(महाराष्ट्र) ************************************************************ बंधुओं,भारत की वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमन ने संसद में अपना पहला बजट भाषण प्रस्तुत किया। प्रसन्नता की बात है कि जहाँ निजी चैनल्स एबीपी न्यूज,आज…

0 Comments