raju

Showing 10 of 50 Results

जीना सीख लिया

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ****************************************** धूप में,छाँव मेंअपनों से दुराव में,जीना सीख लिया। हार में,जीत मेंया हो प्रीत में,हँसना सीख लिया। अपनों के संग,परायों के संगया हो एकांत,रहना सीख लिया। […]

नहीं खड़ा कोई भी रक्षक

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ****************************************** बाँट रहा था मैं ज्ञान,सप्ताह के छह दिनहर दिन के छह घंटे,बच्चों पर रहा ध्यान। जीवन में था मेरा सम्मान,चल रहा था हर्षित जहानचलते-चलते लगा […]

योग-प्रकृति में ही सुरक्षित अपनी डोर

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ****************************************** आओ बंधु सुनो सभी,कहता हूँ एक बात भली,विशिष्टता के चक्कर में जीवन शैली बदल डालीइसमें नहीं कोई स्थाई सुख जान लो तुम यह बात,सुख है […]

दूसरा दौर भयानक

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ****************************************** संकट काल है भाई संकट काल,बचने को नहीं मिल रही हमें ढाल।रखो सभी हृदय से अपना ख्याल,‘कोरोना’ ने मचा रखा है भारी बवाल। कोरोना जो […]

ईश्वर,विद्यालय खोल दो तुरंत

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ****************************************** जाने दो विद्यालय हमें,करो ना अब तुम तन्हाई।बहुत डराया ‘कोरोना’ हमें,भाग अब इसमें तेरी भलाई। दोस्तों का साथ छूटा,गुरुजी का दुलार छूटा।छूट गया हँसी का […]

लौटकर आ गया ‘कोरोना’

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ****************************************** बीत गया है बीस का कहर,भरने लगी गली-गली शहर।भूल गए सावधानी की डगर,गया नहीं है कोरोना का कहर। आते-जाते लोगों के संग,देखा गया कोरोना का […]

मानवता का सम्मान करें

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ****************************************** चलो चलें हम काम करें,काम करें और काम करें।कभी ना हम विराम करें,जग में रह कुछ नाम करें॥ पढ़-लिख हम बढ़ेंगे आगे,जोड़ेंगे हम प्रगति के […]

सत्य ही साख

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ***************************************************** सत्य है भाई साथी अपना,पर लोग धन के साथ हैंजिसके पास न होता धन,कोसता सत्य दिन-रात हैसमय-समय की बात है। सत्य है जग में सबसे […]

हृदय होगा ना कभी दूर

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ***************************************************** विदाई विशेष…… होंगे दूर कल से सभी को है विदाई,आज प्रत्यक्ष यह दुखद घड़ी है आईबधाई हो तुम्हें तुम्हारी यह विदाई,रहे याद सदा दिलों की […]

बदल गया इंसान

राजू महतो ‘राजूराज झारखण्डी’धनबाद (झारखण्ड) ***************************************************** चाँद न बदला,सूरज न बदला….न बदला है भगवान,बस बदल गया इंसान। दिन न बदला,रात न बदली….न बदला है ज्ञान,बस बदल गया ध्यान। गुरु न बदला,शिष्य […]